AAP 2017 | Kejriwal’s U-turn on power waiver

 

AAP punjab image_218452

Many promises made by Aam Aadmi Party during its election campaign have turned in to “chunavi joomlas”. One of such promises was “Reduction of Electricity Prices by half” mentioned in his manifesto, which gained a huge attention and media hype.

With almost 36 lakh families using electricty meters, nearly 110000 units gets consumed every year in the National Capital. If Kejriwal has to be taken seriously that 90% of Delhi families would get reduced power tariffs, they need to comsume less then 400 units.

An air-conditioner or water heater (geyser) runs for 6-7 hours in a day and it would consume more than 500 units within one month. So, as per Kejriwal’s calculations there are no air-conditioner or water heaters available in more than 90% of Delhi homes. Either Kejriwal is weak in Mathematics or he is just fooling the public and protecting voter bank. Sooner or later, people who supported Kejriwal on the point of ‘reducing power tariff, have now realized the trap of Kejriwal and are paying inflated rates for their power consumption.

Now let’s talk about subsidy of 1400 crore. If Kejriwal subsidizes Rs.2 per unit for 90% of those 36 lakh families using 400 units per month, the subsidy weight would be around 3200 crore per year, and the money would be taken from tax payers’ pocket.

The AAP government needs to be complimented for befooling people so easily. In the last one year, AAP has shown its true color. Reasons could be many but at the end AAP failed.

May it be its fund-raising through anti-India elements or its corrupt leaders or supporting anti-national activists, it has left people of Delhi disheartened.

Advertisements
AAP Punjab | Kejriwal “silent” over “Anti-India” slogans

AAP Punjab | Kejriwal “silent” over “Anti-India” slogans

jnu

AAP government, who talked about “Rising India”, sits quite as the student union of the Aam Aadmi Party (AAP), Chhatra Yuva Sangharsh Samiti (CYSS) chanted Anti-India slogans like “Jung rahegi Kashmir ki azadi tak aur Bharat ki barbadi tak” during a protest meet in the name of cultural event, which meant the war will go on till India is destroyed.  Calling for ‘India’s barbadi’ and talks about disintegration of nation, How can this contribute to national interest?

The meet was organized at the Jawaharlal Nehru University (JNU) campus, to mark the “Death anniversary” of Parliament attack Afzal Guru and Jammu and Kashmir Liberation Front co-founder Maqbool Bhat, where CYSS members advocated for ‘Azad Kashmir’, to which students’ body ABVP protested.

Although freedom of speech is an individual’s unconditional right as per Indian Constitution, but that never allows an individual to attack the nation and contribute to the “anti-national” activity.  

Instant on tweeter for a movie review, but missing on such serious issue

Kejriwal, who had always been addressing social media as a convenient, “always on” channel for people of similar ideology to come together & interact, failed to post even a single tweet or comment on Facebook or tweeter on the issue that ‘disrupt’ peace among campus, during the ‘high-voltage’ drama.

Ever wonder why when he is among those who never fail to post a movie review on the very first day of its release but do not comment on such a serious and anti national issue which is happening under his nose in Delhi.

“Complicity between students’ groups in JNU. What has happened was quite dangerous. Kejriwal’s silence – almost an unspoken approval”

Where schools are considered as “foundation stone”, colleges and universities are the places where ideas are allowed to flourish. It’s usually college or university, that grooms the personality of an individual and give ‘vision’ to his or her dreams.  With the recent issue unfolded in Delhi it seems that political parties like AAP are using these students to fulfil their political motive and are throwing them in a dark pit.

see more….

From Molestation to bribe, AAP leaders have it all

458887-imran-hussain-arvind-kejriw

“Corrupt leaders are like rogue elephants which can destroy the well-being of the whole forest eco-system.”

The recent few months have been witness to corruption cases of Aam Aadmi Party (AAP) whether it is Rs.1000 crore auto rickshaw scam, CNG scam, onions and sugar scam and many more. Few days ago AAP’s food minister Asim Ahmed Khan was acquitted in Rs. 6 lakh corruption case, which he acquired from a builder and recently through a sting operation Delhi’s Food and Supplies Minister Imran Hussain had been caught on camera demanding Rs. 30 lakh bribe through his staffer.

AAP which was derived from “India against Corruption” movement is now neck deep in corruption.

FOR MORE INFORMATION….CLICK HERE

Govt buys 10 even-odd number cars to beat its own formula.

The AAP Government has purchased five Swift Desire and five Maruti Ciaz and Nano cars to ensure its Ministers do not suffer in travelling from one place to another during the 15-day trial run of odd-even formula in the city from January 1. The cost of each Swift Desire and Maruti Ciaz works between Rs 9 lakh and Rs 12 lakh. Top sources told The Pioneer that sensing the shortage of cars during the implementation of the pilot project could affect the movement of the Ministers and other officers, the Delhi Government have purchased about 10 even-odd number cars. “The old vehicle being used by Ministers is expected to be given to officials of the Delhi Government during the even-odd scheme.

Delhi CM Arvind Kejriwal meet Home Minister Rajnath Singh

See More 

सरकारी एजेंसी से धोखाधड़ी, ‘आप’ नेता की पत्नी नामजद

आप के नेता ही नहीं उनकी बीबियाँ भी लगी पड़ी है सरकार को चूना लगाने में…..!!!

‘आप’ में शामिल होने वाले पूर्व कांग्रेसी विधायक जगतार सिंह राजला की पत्नी को पुलिस ने धोखाधड़ी के आरोप में नामजद किया है। आरोप है कि मार्कफेड की ओर से राजला के शैलर में जितना धान मिलिंग के लिए लगाया गया था, उसे उनकी पत्नी ने गायब कर दिया। इससे मार्कफेड को लाखों रुपये का नुकसान हुआ। मार्कफेड के जिला मैनेजर की ओर से सदर समाना पुलिस को दी शिकायत पर यह कार्रवाई की गई है। आरोप है कि राजला की पत्नी लखविंदर कौर ने धान की बोरियां गायब करके धान की जगह भूसे की बोरियां भरवा कर लगवा दीं। मामला सामने आने पर लखविंदर कौर ने माना कि उसने मार्कफेड से एक करोड़ 30 लाख 40 हजार 352 रुपये की धोखाधड़ी की है, लेकिन इस पैसे को वह जल्द भर देगी। आज तक आरोपी की ओर से इस रकम को नहीं चुकाया गया है, जिस करके अब यह केस दर्ज किया गया है। फिलहाल इस मामले में कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है। ‪#‎आप_की_गुण्डी‬

congress-leader-jagtar-singh-rajla-56869acec639a_exl

See More 

http://chandigarh.amarujala.com/news/politics-chd/fraud-allegation-on-aap-leader-jagtar-singh-rajla-wife-hindi-news/

कोर्ट के आदेश के बाद गिरफ्तार हो सकते हैं केजरीवाल-सिसोदिया !

दिल्ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल व उप मुख्‍यमंत्री मनीष सिसोदिया के खिलाफ कई गंभीर आरोपों में मामले दर्ज है। उनके खिलाफ दिल्ली पुलिस ने कोर्ट में चार्जशीट दायर कर दी है। जिसके बाद अब अगर कोर्ट का आदेश आता है, तो पुलिस दोनों को गिरफ्तार भी करेगी। दिल्ली के पुलिस आयुक्त ने एक सवाल का जबाव देते हुए कहा कि पुलिस अपने काम को सही तरिके से अंजाम दे रही है, कोई भी अगर दिल्ली में कानून तोड़ेगा तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी, चाहे फिर वह कोई भी हो। पुलिस के अनुसार सीएम केजरीवाल व उपमुख्‍यमंत्री सिसोदिया पर आईपीसी की कई गंभीर धाराओं में मामले दर्ज है। जिसमें सीएम केजरीवाल पर आईपीसी एक्ट की 499, 500, 148, 147, 149, 151, 152, 153, 186, 188, 353/34 और 332 के तहत मामले दर्ज है। जबकि उपमुख्‍यमंत्री सिसोदिया पर 499, 500, 151, 152, 153, 188, 353/34 और 332 के तहत है मामले दर्ज हैं ।
पुलिस पर उठे सवाल………..!!!

25F66277000005-300x162
पुलिस की लाख सफाई के बाद भी पुलिस पर सवाल उठ रहे है क्योंकि अगर किसी आम व्यक्ति के खिलाफ इतने गंभीर आरोपों में मामले दर्ज होते, तो शायद आरोपी जेल में होते। लेकिन अब मामला दिल्ली के मुख्‍यमंत्री और उपमुख्‍यमंत्री से जुड़ा है तो राहत मिलना लाजमी है।

See More : http://navodayatimes.in/news/politics/file-cases-against-kejriwal-and-sisodia/116922/

M.P में पुलिस के हत्थे चढे AAP के गुण्डे

M.P में पुलिस के हत्थे चढे AAP के गुण्डे……….एमपी पुलिस का ‘ऑपरेशन आप’, जिला संयोजक सहित केजरीवाल की पार्टी के तीन नेता गिरफ्तार !!!

नीमच जिले में आप पार्टी के जिला संयोजक नवीन अग्रवाल और सहयोगी अशोक सागर एवं अक्षय धनगर को देर रात जावद पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. इनके साथ अन्य 28 लोगों के खिलाफ जावद थाने में एकीकृत जांच चौकी नयागांव पर बलवा, मारपीट, जान से मारने की धमकी, शासकीय कार्य में बाधा और हरिजन एक्ट के तहत मामला दर्ज है.

एसपी मनोज सिंह के अनुसार 2 दिसंबर को शाम 7 बजे एकीकृत जांच चौकी पर एक ड्राईवर के साथ मारपीट का मामला हुआ था, जिसके बाद जांच चौकी पर जमकर हंगामा हुआ था. इस हंगामें में आप पार्टी के कार्यकर्ता शामिल थे. इस मामले में परिवहन चेक पोस्ट द्वारा दर्ज कराई गई एफआईआर पर जावद पुलिस ने नवीन अग्रवाल,अशोक सागर और अक्षय धनगर सहित 28 लोगो के खिलाफ धारा 147, 148, 149, 323, 294, 353, 327, 427, हरिजन एक्ट और लोक संपत्ति विरूपण अधिनियम (तीन) के तहत दर्ज किया था. इसी मामले में तीन नेताओं की गिरफ्तारी की गई है.

AAP-Leader-Arrested-in-Neemuch-1451367624

See More: 

http://mp.patrika.com/indore-news/neemuch-police-arrested-three-aam-aadmi-party-leaders-16118.html

Aam Aadmi Party was the most hated political party in 2015

New Delhi: Though it is hard to digest but it’s true – Arvind Kejriwal’s Aam Aadmi Party(AAP) was the most hated political party in India in the bygone year 2015.

As per ‘The Goonj India Index 2015: 7 Deadly Indian Sins‘ report, Delhi’s ruling party (AAP) topped the list with a score of 1.45 GPM where 1 GPM is equal to an estimated reach of 100K on digital media.

8_funny_scrap-1755

See More ;

http://zeenews.india.com/news/india/aam-aadmi-party-was-the-most-hated-political-party-in-2015_1842249.html?src=fb

Harmfull odd-even Rule

Both AAP and media do not show this kind of Chaos caused by the odd-even rule putting ordinary Delhites to great hardship due to failure of mass transportation to keep up with demand.They will be safe of pollution .. But will definitely die by suffocation and stampede …..!!!

16

आप’ की एक और विधायक पर FIR, सरकारी कर्मचारी से मारपीट का आरोप

ई दिल्ली: आम आदमी पार्टी के विधायक एक बार फिर से सुर्खियों में हैं। दक्षिणी दिल्ली से आम आदमी पार्टी की विधायिका प्रमिला टोकस और उनके पति के खिलाफ आरके पुरम थाने में दो मामलों में एफआईआर दर्ज कराया गया है। उन पर सरकारी काम में बाधा डालने और सरकारी कर्मचारी के साथ मारपीट का मामला दर्ज किया गया है। प्रमिला पर आरोप है कि उन्होंने आरके पुरम में झुग्गियां हटाने गए सीपीडब्ल्यूडी के अधिकारियों को काम करने से रोका और भीड़ को भड़काने का काम किया।

15 दिसंबर को पहला एफआईआर
15 दिसंबर को सीपीडब्ल्यूडी के एई जयराम ने आरके पुरम थाने में एफआईआर दर्ज कराई और शिकायत में लिखा कि आरके पुरम में झुग्गियां हटाने का काम शांतिपूर्वक चल रहा था,  तभी आप की विधायिका प्रमिला टोकस और उनके पति कार्यकर्ताओ के साथ वहां आ गए और काम को रुकवा दिया और भीड़ को भड़काने लगे जबकि उन्हें बताया गया था कि ये अलाधिकृत है, उनके कार्यकर्ताओं ने मुझे घेर लिया और महिलाओं को मुझे मारने का आदेश दिया। कार्यकर्ताओं ने सरकारी काम में बाधा डाली और मेरे साथ मारपीट की। इस मामले में पुलिस ने शिकायत के आधार पर आईपीसी की धारा 353,332,186 और 34 के तहत मामला दर्ज किया है। साफतौर पर आरोप आप की विधायिका और उनके पति समेत कार्यकर्ताओं पर लगाए गए हैं। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

pramila-tokas_650x488_41450751014

18 दिसंबर को दूसरा एफआईआर
इसके अलावा 18 दिसंबर को गीता नाम की महिला ने आरके पुरम थाने में एक एफआईआर दर्ज कराई है, जिसमें महिला ने आरोप लगाया है कि मैं 15 दिसंबर को अपने देवर के घर थी। तभी आप विधायिका प्रमिला टोकस अपने कुछ आदमियों के साथ जबरन मेरे घर में आई। एक शख्स घर की वीडियो बनाने लगा और विधायिका का पति धीरज टोकस मुझसे गलत भाषा में बोलने लगा। विधायिका का पति मेरे देवर बलदेव को गाली देने लगा और जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल बार बार करता रहा और मेरे देवर को किसी महिला के केस में फंसाने के लिए कहने लगा। पुलिस ने इस मामले में शिकायत के आधार पर आईपीसी की धारा 451,509,506 और 34 के तहत मामला दर्ज किया है और जांच जारी है।

दोनों ही मामलो में आप की विधायिका प्रमिला टोकस और उनके पति धीरज टोकस का नाम शिकायत में है, जिसके आधार पर एफआईआर हुई है। कहा जा सकता है कि आप की विधायिका और उनके पति पर दो मामलो में एफआईआर हुई है। एफआईआर की कॉपी दोनों ही मामलों की अटैच है।